रविवार, 10 अक्तूबर 2021

सरकारी डॉक्टर कैसे बने | sarkari doctor kaise bane

  सरकारी डॉक्टर कैसे बने | sarkari doctor kaise bane
Sarkari-doctor-kaise-bne-neet-MBBS-indian-army-me-doctor-kaise-bne
 सरकारी डॉक्टर कैसे बने | sarkari doctor kaise bane 

दोस्तों अगर आप सरकारी डॉक्टर बनना चाहते है तो आपके मन में सवाल जरूर आया होगा कि सरकारी डॉक्टर कसे बने? आज के इस लेख में हम आपके सभी सवालो के जवाब देने वाले है. इसके लिए आपको हमारे पुरे लेख को पढना होगा जिससे कि आपको पूरी और सही सही जानकारी मिले.

डॉक्टर बनने के लिए बारहवी में कौनसा विषय होना चाहिए

दोस्तों डॉक्टर बनने के लिए आपके पास बारहवी में फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी होना अनिवार्य है, क्योकि डॉक्टर बनने के लिए आपके पास बारहवी में बायोलॉजी विषय होना अनिवार्य है. आप भारत के किसी भी मान्य बोर्ड से बारहवी बायोलॉजी से कर सकते है.

डॉक्टर बनने के लिए कौनसा कोर्स करे

दोस्तों डॉक्टर बनने के लिए आपको MBBS का कोर्स करना पड़ेगा. MBBS करने के बाद ही आप डॉक्टर बन सकते है. MBBS कोर्स पांच वर्ष का होता है, इस कोर्स को करने के लिए आपको कम से कम बारहवी पास होना अनिवार्य है.

MBBS कोर्स कैसे करे

दोस्तों MBBS कोर्स सरकारी तथा प्राइवेट दोनों कॉलेज से होता, आप किसी भी कॉलेज से MBBS कोर्स कर सकते है. यह कोर्स पांच वर्ष का होता है. इस कोर्स को करने के बाद एक वर्ष की इंटरशिप करनी पडती है उसके बाद आप डॉक्टर बन जाते है. आप किसी भी हॉस्पिटल में डॉ. बनकर सेवा दे सकते है. लकिन प्राइवेट कॉलेज से MBBS करने में बहुत खर्च आता है जो मिडिल क्लास फैमिली के लिए बहुत मुश्किल होता है और अगर आप MBBS सरकारी कॉलेज से करते है तो इसमें आपका खर्च प्राइवेट कॉलेज के मुकाबले न के बराबर आता है.

MBBS कोर्स की प्राइवेट कॉलेज की फीस कितनी होती है

दोस्तों अगर आप MBBS किसी प्राइवेट कॉलेज से करते है तो उसके लिए आपको बहुत खर्च करना पड़ेगा. प्राइवेट कॉलेज में इसकी फीस पंद्रह लाख रु प्रतिवर्ष होती है. यह फीस पांच वर्ष के कोर्स में थोडा बहुत बढ़ भी जाती है.

MBBS कोर्स की सरकारी कॉलेज की फीस कितनी होती है

दोस्तों अगर आप सरकारी कॉलेज से MBBS का कोर्स करते है तो उसके लिए लिए आपको बहुत कम फीस देनी होती है. सरकारी कॉलेज में इसकी फीस एक वर्ष की तीन हजार रु के आसपास होती है. यह फीस प्राइवेट कॉलेज के मुकाबले में बहुत कम होती है. लकिन प्राइवेट कॉलेज में सभी का नंबर नही आता उसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होता है, एंट्रेंस एग्जाम में पास होने के बाद सरकारी कॉलेज से MBBS कर सकते है.

एंट्रेंस एग्जाम में कैसे शामिल हो

दोस्तों सरकारी कॉलेज से MBBS करने के लिए आपको NEET/नीट का एंट्रेंस एग्जाम पास करना होगा. इस एग्जाम के फॉर्म नवम्बर-दिसम्बर में आते है, इस एग्जाम के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना होता है. इस एग्जाम की फीस १३०० रु के आसपास है. इस फॉर्म को भरने के बाद इसका एग्जाम अप्रैल के आस पास होता है. यह एक मेडिकल फील्ड का सबसे बड़ा एग्जाम है, इस एग्जाम में पुरे भारत से स्टूडेंट अप्लाई करते है. इस एग्जाम को पास करना आसान नही होता है. इसके लिए आपको बहुत अच्छी तैयारी करनी पड़ेगी. जो स्टूडेंट इस एंट्रेंस एग्जाम को पास कर लेते है उसके बाद उन्हें एक और एग्जाम AIIMS को पास करना होता है. जब कोई स्टूडेंट दोनों एग्जाम को पास करता है, उसके बाद ही उसे सरकारी कॉलेज मिलता है.

एंट्रेंस एग्जाम में क्या-क्या आता है

दोस्तों एंट्रेंस एग्जाम तीन विषय में बटा हुआ होता है. जिसमे तीस प्रश्न फिजिक्स, तीस प्रश्न केमिस्ट्री तथा तीस प्रश्न बायोलॉजी के होते है. जो की बहुविकल्पीय प्रकार के होते है. यह प्रश्न आपको बारहवी की पढाई के अनुसार ही होते है. बस आपको अपनी बारहवी की पढाई अच्छे से करनी होगी, तभी आप एंट्रेंस एग्जाम को पास कर सकते है.

नीट का रिजल्ट कब आता है?

दोस्तों नीट का रिजल्ट अप्रैल के पहले या दुसरे सप्ताह तक आ जाता है, जो भी स्टूडेंट इस एग्जाम में पास होते है, उसके बाद ही उन्हें सरकारी कॉलेज से MBBS करने का मौका मिलता है.

 

नीट में पास होने के लिए कितने मार्क्स चाहिए

दोस्तों वैसे तो नीट में पास होने के लिए कोई निश्चित अंक निर्धारित नहीं है. यह कट-ऑफ के आधार पर निर्धारित किया जाता है कि कौन स्टूडेंट पास है और कौन स्टूडेंट फ़ैल है. इसकी कट-ऑफ विभिन्न कैटगरी के लिए अलग-अलग होती है. परन्तु प्रत्येक वर्ष कम्पटीशन अधिक होने की वजह से नीट एग्जाम की कट-ऑफ हाई होती जा रही है.

इंडियन आर्मी में डॉक्टर कैसे बने

दोस्तों अगर आप इंडियन आर्मी में डॉक्टर बनना चाहते है तो उसके लिए आपको AFMC [ Armed Force Mdeical College ] पुणे से MBBS कोर्स को पूरा करना होगा. AFMC पुणे में प्रवेश नीट के एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर होता है. AFMC से MBBS करने  के बाद एक वर्ष की इंटरशिप करनी होती है. इंटरशिप के लिए स्टूडेंट की पसंद के आधार पर उन्हें निम्नलिखित पदों पर भेजा जाता है-

  • ·         इंडियन आर्मी में लेफ्टिनेंट
  • ·         इंडियन एयरफोर्स में फ्लाइंग ऑफिसर
  • ·         इंडियन नेवी में सब-लेफ्टिनेंट

जब इंटरशिप पूरी हो जाती है तो उसके बाद उन्हें भारत की रक्षा सेना में निम्नलिखित पदों पर नियमित रूप से नियुक्त कर लिया जाता है-

  • ·         इंडियन आर्मी में कैप्टन
  • ·         इंडियन एयरफोर्स में फ्लाइंग ऑफिसर
  • ·         इंडियन नेवी में लेफ्टिनेंट

परन्तु याद रहे भारतीय सेना के नियम और कानून सबसे अहम होते है. अगर आप AFMC से MBBS करते है तो आपके परिवार के सदस्य से एक फॉर्म भरवा लिया जाता है, जिसमे एक अग्रीमेंट होता है की आप MBBS करने के बाद आपको सेना में डॉक्टर बनना ही होता है. अगर आप ऐसा नहीं करते तो आपको या आपके परिवार को भारत सरकार को एक निर्धारति रकम देनी होती है. यह रकम उस अग्रीमेंट पर साफ-साफ लिखी होती है. वेसे वह रकम तीस लाख के आसपास होती है.

 

डॉक्टर कोर्स नाम लिस्ट

दोस्तों यहाँ कुछ डॉक्टर कोर्स नाम लिस्ट दी गयी है, इन कोर्स में से आप अपनी पसंद के कोर्स को करने के पश्चात डॉक्टर बन सकते है.

·         MBBS  COURSE

·         BDS COURSE

·         B.sc nursing

·         BAMS COURSE

·         BHMS COURSE

·         BUSMS COURSE

·         BPT COURSE

·         BOT COUSE

·         DMLT COUSE


निष्कर्ष

दोस्तों आशा करता हूँ की आपको हमारी यह पोस्ट सरकारी डॉक्टर कैसे बने जरूर पसंद आई होगी. आशा करते है की आपको डॉक्टर बनने से सम्बंधित सभी जानकरी हमारी पोस्ट में मिल गयी होगी. अगर आपको किसी सवाल का जवाब हमारी पोस्ट में नहीं मिला तो कृपया हमे बताये, जिससे हम अपनी पोस्ट में सुधार कर सके. हमारी पोस्ट पर आने के लिए आपका धन्यवाद.



हमारी कुछ अन्य महत्वपूर्ण पोस्ट 

 IAS ऑफिसर कैसे बने? | कलेक्टर कैसे बने? 

◆ जज कैसे बने? 

◆ 12th के बाद क्या करें?

SSC- GD क्या होता है?

◆ फैशन डिजाइनर कैसे बने? 

◆ ccsu- B.A, B.Sc, B.com रिजल्ट

◆ IPS ऑफिसर कैसे बने?


Disqus Comments