गुरुवार, 25 नवंबर 2021

IPS ऑफिसर कैसे बने? पूरी जानकारी | 12ke bad ips officer kaise bane.

 

IPS ऑफिसर कैसे बनें? पूरी जानकारी | 12 ke bad ips officer kaise bane. 

Ips-officer-kaise-bane-12-ke-bad-ips-officer-ips-banne-ke-lie-graduation-me-kitne-marks-chahiye-ips-height
IPS ऑफिसर कैसे बने? पूरी जानकारी | 12ke bad ips officer kaise bane. 


 हर किसी का सपना होता है की वह अपने जीवन में कुछ ऐसा करे जिससे की सब लोग उसपर गर्व करे. उनमे से काफी लोग ऐसे होते है जो की आईपीएस अधिकारी बनकर अपने परिवार का नाम रोशन करना चाहते है. दोस्तों अगर आप आईपीएस ऑफिसर बनना चाहते है और आपको आईपीएस ऑफिसर बनने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी नही है तो आप एकदम सही पोस्ट पर आये है, आज हम अपनी पोस्ट 12 के बाद आईपीएस ऑफिसर कैसे बने? के माध्यम से आपको आईपीएस बनने के पुरे सफ़र के बारे में बात करेंगे.

IPS  क्या होता है?

IPS का फुल फॉर्म Indian police service  जो की पुलिस डिपार्टमेंट का सर्वोच्च पद होता है. यह भारत के मुख्य तीन पदों आईएस, आईपीएस, आईएफएस में से एक होता है. देश में कानून व्यस्था को कायम रखने के लिए प्रत्येक जिले में आईपीएस अधिकारी नियुक्त किये जाते है. जिले में नियुक्त सभी DSP, SP,  DGP, कमिश्नर आदि आईपीएस अधिकारी ही होते है.

इसे भी पढ़े - इनकम टैक्स ऑफिसर कैसे बनें पूरी जानकारी

IPS कैसे बने?

दोस्तों आईपीएस अधिकारी बनना आसान नही होता है, उसके लिए आपको बहुत मेहनत करनी पडती है. अगर आप आईपीएस अधिकारी बनना चाहते है तो उसके लिए आपको UPSC एग्जाम को पास करना होता है. लेकिन UPSC एग्जाम देने के लिए आपके पास निम्न योग्यता होनी चाहिए.

12 वी के बाद आईपीएस ऑफिसर कैसे बने

 1.  12 वी कक्षा को पास करे...   

दोस्तो  आईपीएस ही नहीं किसी भी छोटी या बड़ी नौकरी के लिए कम से कम 12 वी पास होना जरूरी माना जाता है. अगर आपकी 12 वी अभी तक नहीं हुई है तो आप सबसे पहले अपनी 12 वी कक्षा को अच्छे नंबर से पास करे.
2.       ग्रेजुएशन को पूरा करे.....
दोस्तों UPSC का एग्जाम देने के लिए आपको कम से कम ग्रेजुएशन पास करना अनिवार्य है तभी आप UPSC परीक्षा में शामिल हो सकते है. आपको अपनी ग्रेजुएशन को बहुत मेहनत के साथ पास करना होगा. इसमें आपको ग्रेजुएशन में कितने भी मार्क्स आये उससे कोई फर्क नही पड़ता है. बस आपको भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्विद्यालय से अपनी स्नातक पूरी करनी है.
3.       अब UPSC परीक्षा के लिए आवेदन करे....
ग्रेजुएशन पूरी होने के बाद अब यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन [ UPSC ] की मुख्य वेबसाइट www.upsc.gov.in   पर अप्लाई करे.
4.        अब प्री एग्जाम क्लियर करे.....
सबसे पहले आपको प्री एग्जाम को पास करना होगा. जो भी कैंडिडेट UPSC परीक्षा के लिए आवेदन करते है उनको सबसे पहले प्री एग्जाम को देना पड़ता है.
5.       अब main एग्जाम पास करे.....
अब आपको main एग्जाम को पास करना होगा, main एग्जाम को पास करने के बाद आप अगले चरण के लिए चुने जायंगे.
6.       अब इंटरव्यू को क्लियर करे.....
यह अंतिम चरण होता है, एग्जाम को पास करने के बाद अब आपको साक्षात्कार को क्लियर करना होगा. साक्षात्कार करने के बाद आप आईपीएस ऑफिसर की ट्रेनिंग के लिए भेज दिए जाती है. उसके बाद आप एक सफल आईपीएस अधिकारी बनकर देश की सेवा करते है.

प्री एग्जाम की डिटेल्स

यह एग्जाम प्रत्येक वर्ष जून के महीने में UPSC आयोजित कराती है, इसमें दो पेपर लिए जाते है और दोनों पेपर ऑब्जेक्टिव होते है. पहला पेपर GS का तथा दूसरा पेपर aptitude का होता है. यह दोनों पेपर कुल 400 अंको के होते है. जो भी स्टूडेंट इस प्री एग्जाम में पास होता है, वही स्टूडेंट मुख्य परीक्षा में समल्लित हो सकते है.

main एग्जाम डिटेल्स

यह एग्जाम UPSC प्रत्येक वर्ष सितम्बर-अक्टूबर महीने में आयोजित कराती है. इस एग्जाम में 9 पेपर होते है जो की दो भागो क्रमशः क्वालीफाइंग पेपर तथा मेरिट पेपर में विभाजित होते है.

क्वालीफाइंग पेपर- इसमें 2 पेपर लिए जाते है तथा प्रत्येक 300-300 अंको के होते है. परन्तु इस एग्जाम के अंक चयन प्रक्रिया में नहीं जोड़े जाते.

मेरिट पेपर- इस एग्जाम में 7 पेपर होते है तथा प्रत्येक 250-250 अंको के निर्धारित होते है. इस एग्जाम में अधिक अंक लेकर आने वाले स्टूडेंट की उनके अंको के आधार पर मेरिट बनाई जाती है और जो भी स्टूडेंट इस एग्जाम को पास करते है उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है.

IPS ऑफिसर बनने के लिए जरूरी शर्ते

  • ·         आवेदक भारत का नागरिक होना अनिवार्य है.
  • ·         आवेदक का भारत के किसी भी विश्विद्यालय से स्नातक [ ग्रेजुएट ] होना अनिवार्य है.
  • ·         आवेदक पर भारत के किसी भी न्यायालय में कोई भी मुकदमा दर्ज न किया गया हो.
  • ·         आवेदक मानसिक रूप से स्वस्थ हो.
  • ·         आवेदक की आयु 21 वर्ष से 32 वर्ष के मध्य हो.
  • ·         आवेदक के नाम कोई भी क़ानूनी कारवाही दर्ज न की गयी हो.

आईपीएस बनने के लिए फॉर्म कब आता है

आईपीएस बनने के लिए UPSC का ही एग्जाम देना पड़ता है, जिसे सिविल सर्विस एग्जाम के नाम से भी जाना जाता है. इस एग्जाम का नोटिफिकेशन प्रत्येक वर्ष फ़रवरी के आखिर में आता है, आप उस फॉर्म को फिल कर सकते है. इसके बाद इसका प्री एग्जाम जून महीने में लिया जाता है. प्री एग्जाम को पास करने वाले स्टूडेंट आगे के एग्जाम में सम्मलित होते है.

आईपीएस बनने के लिए उम्र सीमा

दोस्तों अगर आप आईपीएस बनने ले लिए उम्र सीमा निर्धारित की गयी है. अगर किसी कैंडिडेट की उम्र 21 वर्ष तथा 32 वर्ष के मध्य है तभी वह UPSC एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकता है.

  • ·         OBC कैटोगरी को 3 वर्ष की छुट दी जाती है.
  • ·         SC  कैटोगरी को 3 वर्ष की छुट दी जाती है.
  • ·         ST  कैटोगरी को 3 वर्ष की छुट दी जाती है.

आईपीएस अधिकारी बनने के लिए शारीरिक योग्यता

आईपीएस अधिकारी बनने के लिए कुछ शारीरिक योग्यता निर्धारित की गयी है जो की इस प्रकार है-

1.       कद  [HEIGHT ] - पुरुष उम्मीदवारों की हाइट कम से कम 5 फिट 5 इंच [165 ] सेंटीमीटर होनी चाहिए तथा महिला वर्ग की की हाइट कम से कम 4 फिट 11 इंच होनी चाहिए.

2.       छाती [ CHEST ] - पुरुष कैंडिडेट की छाती कम से कम 84 सेंटीमीटर तथा महिला कैंडिडेट की छाती 79 सेंटीमीटर होनी चाहिए.

3.       नेत्र दृष्टि [ EYE ] – कैंडिडेट की स्वस्थ आंखो का वजन 6/6 अथवा 6/9 होना चाहिए और कमजोर आँखों का वजन 6/12 अथवा 6/9 होना चाहिए. द्व्नेत्री दृष्टि आवश्यक है. कैंडिडेट की आँखों पर दूर के नंबर -4.00D से अधिक नहीं होने चाहिए तथा नजदीक के नंबर +4.00D से अधिक नहीं होने चाहिए.

आईपीएस बनने के लिए कितने एटेम्पट दे सकते है

  • ·         GEN कैटोगरी का कैंडिडेट 32 वर्ष होने तक अधिकतम 6 एटेम्पट दे सकता है.
  • ·         OBC कैटोगरी का कैंडिडेट 35 वर्ष होंने तक अधिकतम 9 एटेम्पट दे सकता है.
  • ·         SC कैटोगरी का कैंडिडेट 37 वर्ष होने तक कितने भी एटेम्पट दे सकता है.
  • ·         ST कैटोगरी का कैंडिडेट 37 वर्ष होने तक कितने भी एटेम्पट दे सकता है.

आईपीएस का एग्जाम सिलेबस

प्रारंभिक परीक्षा -1 [ GENERAL STUDIES ]

  • ·         वर्तमान देश-विदेश की घटनायें
  • ·         भारतीय रास्ट्रीय आन्दोलन का इतिहास
  • ·         भारतीय और विश्व भूगोल
  • ·         पर्यावरण की वर्तमान गतिविधियों की जानकारी
  • ·         आर्थिक और सामाजिक विकास
  • ·         राज-व्यस्था और शासन

प्रारंभिक परीक्षा -२ [ CAST GENERAL STUDIES ]

  • ·         पारस्परिक और संचार कौशल
  • ·         Comprehension
  • ·         सामान्य मानसिक छमता
  • ·         तर्कित और विशलेषण कौशल
  • ·         सामान्य गणित [ कक्षा 10 तक का ]
  • ·         निर्णय शक्ति और समस्या सुलझाने की छमता

आईपीएस main एग्जाम सिलेबस

  • Ø  एक सामान्य निबंध प्रकार का पेपर                    [ 200 अंको का ]
  • Ø  एक निबंध प्रकार का भारतीय भाषा क्वालीफाइंग पेपर       [ 300 अंको का ]
  • Ø  एक अंग्रेजी क्वालीफाइंग पेपर                            [ 300 अंको का ]
  • Ø  दो सामान्य अध्यन पत्र                                 [ 300 अंको का ]
  • Ø  चार वैकल्पिक विषय का पेपर                            [ 300 अंको का ]
आईपीएस ऑफिसर की ट्रेनिंग

आईपीएस के सभी एग्जाम और साक्षात्कार पास करने के बाद अगला चरण ट्रेनिंग आता है. आईपीएस की ट्रेनिंग 2 वर्ष की होती है. इसमें ट्रेनिंग के दो फेज होते है. ट्रेनिंग का पहला फेज लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ़ एडमिनिस्ट्रेशन मसूरी ट्रेनिंग सेंटर में होती है, जो की प्रक्रति की वादियों में बनी बहुत ही खुबसूरत जगह है. यहाँ आपको एक महीने का फाउंडेशन कोर्स करना होता है. इस कोर्स को करने के बाद आपको आईपीएस के मुख्य ट्रेनिंग सेंटर सरदार वल्लभभाई पटेल नेशनल पुलीस एकेडमी , हैदराबाद भेज दिया जाता है. यहाँ आपकी मुख्य आईपीएस ट्रेनिंग होती है, उसके बाद आपको पोस्टिंग दी जाती है.

आईपीएस ऑफिसर की जिम्मेदारी

  • Ø  अपने जिले अथवा राज्य में अपराधो की जाँच
  • Ø  .अपने जिले अथवा राज्य में अपराधो को रोकना
  • Ø  अपने जिले और राज्य में दुर्घटना को रोकना
  • Ø  अपने जिले अथवा राज्य में प्राथमिक सुचना रिपोर्ट [ FIR ] के लिए पंजीकरण
  • Ø  अपने जिले अथवा राज्य में धार्मिक / राजनातिक कार्यो के लिए अनुमति प्रदान करना
  • Ø  अपने जिले अथवा राज्य को अपराधमुक्त बनाना
  • Ø  अपने जिले अथवा राज्य में प्रत्येक नागरिक की सुरक्षा का ध्यान रखना
  • Ø  अपने जिले अथवा राज्य के लोगो को होने वाली समस्याओ का समाधान करना

 

आईपीएस बनने के लिए कौनसा सब्जेक्ट लेना चाहिए

दोस्तों आपकी रूचि जिस भी विषय में हो उसमे ही आपको अपनी 11वी तथा 12 वी पूरी करनी चाहिए. आपको जो भी विषय सबसे अच्छा लगता हो, जिसमे आपको सबसे ज्यादा और जल्दी समझ आता हो आपको उस सब्जेक्ट का चुनाव करना चाहिए. 

आईपीएस बनने के लिए बेहतरीन बुक

दोस्तों वेसे तो आईपीएस का पेपर किसी बुक से नही बनता है, लकिन फिर भी अगर आपको प्रेक्टिस के लिए कोई अच्छी किताब की तलाश कर रहे है तो आज हम आपको कुछ किताबो के बारे में बतायंगे. जो की कुछ आईपीएस ऑफिसर की पसंद रही है. हम अपनी पोस्ट के माध्यम से किसी भी किताब का समर्थन नही करते है. तो चलिए जानते है कुछ आईपीएस बुक के बारे में जिन्हें आईपीएस ऑफिसर पसंद करते है.

आईपीएस प्री एग्जाम के लिए कुछ बेहतरीन किताबे

1.       आर एस शर्मा [ पुरानी NCRT ] का प्राचीन भारत

2.       सतीश चन्द्र [ पुरानी NCRT ]

3.       स्पेक्ट्रम पब्लिकेशन के  A BRIEF HOSTORY OF MODERN INDIA के साथ सुजाता मेनन की   CONCISE HISTORY OF MORDEN INDIA बुक

4.       भारतीय भूगोल की तैयारी के लिए NCERT की पुरानी किताब

 

दोस्तों इसके अलावा और भी अन्य बुक्स है जो की पिछले कुछ वर्षो से आईपीएस ऑफिसर की पसंद रही है. वह आईपीएस ऑफिसर इन्हें पढने की सलाह देते है साथ ही कुछ ऐसी वेबसाइट भी है जिनपर कुछ टॉपिक को बहुत ही अच्छे से कवर किया गया है.

आईपीएस प्रीवियस ईयर पेपर

दोस्तों अगर आप आईपीएस प्रीवियस ईयर पेपर को देखना चाहते है तो यह बहुत अच्छी बात है, प्रीवियस ईयर पेपर से आपको अंदाजा हो जायगा कि आईपीएस एग्जाम में किस तरह के सवाल पूछे जाते है. दोस्तों आपको प्रीवियस ईयर पेपर के लिए किसी दूसरी वेबसाइट पर नही जाना पड़ेगा. आप UPSC की मुख्य वेबसाइट www.upsc.gov.in पर डायरेक्ट जाकर किसी भी विषय का पेपर डाउनलोड कर सकते है. यह पेपर आपको PDF फाइल के रूप में प्राप्त होगा. बस आपको साईट पर जाकर अपने सब्जेक्ट को सेलेक्ट करना है उसके बाद आपको जिस भी पोस्ट का जो भी पेपर चाहिए वह आपको सेलेक्ट करना है और आपके सामने वह पेपर खुल जायगा.

आईपीएस अधिकारी की सैलरी

दोस्तों आईपीएस की सैलरी उनके पदों के हिसाब से अलग-अलग होती है. जैसे-जैसे आईपीएस ऑफिसर का प्रोमोशन होता है साथ-साथ उनकी सैलरी भी बढती जाती है. आईपीएस के सातवें वेतन आयोग के अनुसार एक नये आईपीएस अधिकारी की मासिक सैलरी 56100 रु है. साथ ही साथ आईपीएस अधिकारी को महंगाई भत्ता, घर, बिजली, गाड़ी, कुक, मेडिसिन, गैस, यात्रा आदि सब मुफ्त मिलता है. जब विभिन्न प्रमोशन के पश्चात् कोई आईपीएस अधिकारी डीजीपी के पद पर पहुँचता है तो उस समय उसकी सैलरी सर्वाधिक [ लगभग 2 लाख 25 हजार रु ] होती है.

FAQ

प्रश्न- आईपीएस अधिकारी बनने के लिए कम से कम कितनी योग्यता होनी चाहिए?

उत्तर- आईपीएस अधिकारी बनने के लिए कम से कम आपको ग्रेजुएट[ किसी भी विषय से ] होना अनिवार्य है.

प्रश्न- आईपीएस अधिकारी बनने के लिए ग्रेजुएशन में कितने परसेंट मार्क्स होने अनिवार्य है?

उत्तर-  इससे कोई फर्क नहीं पड़ता की आप ग्रेजुएशन में कितने परसेंट मार्क्स से पास हुए है, बस आपको ग्रेजुएशन पास करनी है. उसके बाद एग्जाम देकर आप आईपीएस अधिकारी बन सकते है.

प्रश्न- आईपीएस अधिकारी बनने के लिए कौनसा एग्जाम देना पड़ता है?

उत्तर- आईपीएस अधिकारी बनने के लिए UPSC का एग्जाम देना पड़ता है. जो की UPSC प्रत्येक वर्ष कराती है.

प्रश्न- आईपीएस अधिकारी बनने के लिए कितनी हाइट कितनी होनी चाहिए?

उत्तर- पुरुष उम्मीदवारों की हाइट कम से कम 5 फिट 5 इंच [165 ] सेंटीमीटर होनी चाहिए तथा महिला वर्ग की की हाइट कम से कम 4 फिट 11 इंच होनी चाहिए.

 

निष्कर्ष – दोस्तों आशा करते है की आपको हमारी यह पोस्ट आईपीएस कैसे बने जरूर पसंद आई होगी,

        हमने अपनी इस पोस्ट के माध्यम से आपके मन में आने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है. अगर फिर भी आपके मन में आईपीएस ऑफिसर कैसे बने से रिलेटेड कोई सवाल या फिर हमारी पोस्ट के लिए कोई सुझाव है तो कृपया हमे अवश्य बताएं. जिससे हम अपनी पोस्ट में सुधार करके इसे और बेहतर बना सके. अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई हो तो कृपया कमेंट करके जरूर बताये. आपके कमेंट से हमे और बेहतर लिखने के लिए प्रोत्साहन मिलता है. हमारी पोस्ट पर आने के लिए आपका धन्यवाद..........................................................


हमारी कुछ अन्य महत्वपूर्ण पोस्ट 

IAS ऑफिसर कैसे बने? | कलेक्टर कैसे बने? 

जज कैसे बने? 

सरकारी डॉक्टर कैसे बने?

12th के बाद क्या करें?

SSC- GD क्या होता है?

फैशन डिजाइनर कैसे बने? 

ccsu- B.A, B.Sc, B.com रिजल्ट

  सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनते है?| 12 ke bad software engineer kaise bane.

◆ लोको पायलट कैसे बनें? 







Disqus Comments