रविवार, 9 जनवरी 2022

सरकारी टीचर ( government teacher ) कैसे बनें? पूरी जानकारी| योग्यता| कोर्स | सैलरी।

 सरकारी टीचर ( government teacher ) कैसे बनें? पूरी जानकारी| योग्यता| कोर्स | सैलरी। 

Sarkari-teacher-kaise-bane-government-teacher-kaise-bane
सरकारी टीचर ( government teacher ) कैसे बनें? पूरी जानकारी| योग्यता| कोर्स | सैलरी। 


दोस्तों अगर आप एक सरकारी टीचर के रूप में अपना कैरीअर बनाना चाहते और आपको यह नही पता की सरकारी टीचर किस प्रकार से बना जाता है उसके लिए क्या क्वालिफिकेशन चाहिए और कितनी  ऐज लिमिट होती है तो इस तरह के सभी सवाल के जवाब आज हम आपको अपनी इस पोस्ट में देंगे.

सरकारी टीचर ( government teacher ) कैसे बनें? पूरी जानकारी| योग्यता| कोर्स | सैलरी। 

दोस्तों हमारी इस पोस्ट सरकारी टीचर ( government teacher ) कैसे बनें? पूरी जानकारी| योग्यता| कोर्स | सैलरी।  में हम आपको सभी प्रकार के सरकारी टीचर बनने की सारी प्रक्रिया बतायेंगे जिससे की आपके मन में सरकारी टीचर बनने से सम्बंधित कोई सवाल न रहे. चलिए पोस्ट को शुरू करते है.

सरकारी टीचर ( government teacher ) कैसे बनें?

दोस्तों अगर आप एक सरकारी टीचर बनना चाहते है तो सबसे पहले यह ख्याल रखिये की आपको किस प्रकार का सरकारी टीचर बनना है. क्योकि सरकारी टीचर भी चार [ 4 ] प्रकार के होते है, आप जिस भी प्रकार का सरकारी टीचर बनना चाहते है उसको चुनिए.

अगर आप नहीं जानते की सरकारी टीचर के चार प्रकार कौन-कौन से होते है तो कोई बात नहीं हम आपको आसान शब्दों में बताते है कि सरकारी टीचर के चार प्रकार कौन से होते है-

  1. प्राइमरी टीचर
  2. TGT टीचर
  3. PGT टीचर
  4. प्रोफेसर

 

तो दोस्तों यह होते है चार प्रकार के सरकारी टीचर जिनमे आप अपना करियर बना सकते है, आप जिस भी प्रकार का टीचर बनना चाहते है उनके लिए अलग-अलग चयन प्रक्रिया होती है साथ ही प्रत्येक की सैलरी भी अलग-अलग होती है.

चलिए दोस्तों विस्तार से प्रत्येक प्रकार के टीचर की चयन प्रक्रिया, क्वालिफिकेशन, ऐज लिमिट, सैलरी, एग्जाम के बारे में जानते है.

 12वी के बाद सरकारी( government teacher ) कैसे बनें? - 12th ke baad sarkari teacher kaise bane. 


प्राइमरी टीचर

दोस्तों प्राइमरी टीचर वह टीचर होते है जो की प्राइमरी स्कूल में स्टूडेंट को पढाते है. यह टीचर या तो किसी बड़े सरकारी स्कूल में चल रही प्राइमरी कक्षाओ [ 1 से 5 ] तक के स्टूडेंट को पढाते है या फिर ऐसे सरकारी स्कूल में पढाते है जो की कक्षा 1 से कक्षा 5 तक के स्कूल होते है.

यह स्कूल आपने गावं या शहर में भी देखे होंगे जो की सर्व शिक्षा अभियान के तहत चलाये जाते है. इस प्रकार के स्कूल में प्राइमरी टीचर पढाते है.

प्राइमरी टीचर बनने के लिए क्वालिफिकेशन

दोस्तों प्राइमरी टीचर बनने के लिए मिनिमम क्वालिफिकेशन 12 वी कक्षा रखी गयी है, अगर आप किसी भी विषय से 12 वी कक्षा पास है तो आप प्राइमरी टीचर बनने के लिए अप्लाई कर सकते है. परन्तु प्राइमरी टीचर बनने के लिए आपके कम से कम 50% अंक 12 वी कक्षा में अवश्य होने चाहिए तभी आप प्राइमरी टीचर बनने के लिए अप्लाई कर सकते है. अगर आपके 12 वी कक्षा में 50% अंक नहीं हो तो आप प्राइमरी स्कूल में टीचर नहीं बन सकते.

प्राइमरी टीचर बनने के लिए कोर्स

दोस्तों प्राइमरी टीचर बनने के लिए आपको D.LE.ED / B.LE.ED  OR  B.ED  कोर्स में से कोई भी कोर्स कर सकते है. D.LE.ED / B.LE.ED  कोर्स डिप्लोमा कोर्स होते है जो की प्राइमरी टीचर बनने के लिए किये जाते है जबकि B.ED  एक डिग्री है जिसमे आप डिग्री कॉलेज में प्रोफेसर के अलावा किसी भी प्रकार के सरकारी टीचर बनने के लिए इस्तेमाल कर सकते है.

मैं आपको सलाह दूंगा की आप B.ED कोर्स ही करे क्योकि न्यू शिक्षा निति के अनुसार अब प्राइमरी के अलावा सभी प्रकार की टीचर बनने के लिए B.ED  की ही मांग होती है. अगर आप B.ED करते है तो आप किसी भी प्रकार के सरकारी टीचर बन सकते है जबकि डिप्लोमा करने के बाद आप सिर्फ प्राइमरी स्कूल में ही टीचर बनने के लिए अप्लाई कर सकते है.

आमतौर पर B.ED  कोर्स 4 वर्ष का होता है परन्तु अगर आप ग्रेजुएट है तो यह आपके लिए 2 वर्ष का होगा उसी प्रकार अगर आप पोस्ट ग्रेजुएट है तो B.ED  कोर्स आपके लिए 1 वर्ष का होता है.

प्राइमरी टीचर बनने के लिए एग्जाम

दोस्तों अगर अपने D.LE.ED / B.LE.ED  OR  B.ED  में से कोई भी कोर्स कर लिया है तो उसके बाद आपको एक एग्जाम पास करना होता है यह एग्जाम TET / CTET होता है. अगर आपको यह नहीं पता की TET / CTET एग्जाम क्या होता है तो आपको आसान शब्दों में बता दूँ की यह एक टीचर eligiblity टेस्ट होता है जो की राज्य और सेन्ट्रल गवर्नमेंट के लिए अलग-अलग आयोजित होता है. TET एग्जाम स्टेट गवर्नमेंट द्वारा आयोजित किया जाता है इस एग्जाम को पास करने के बाद आप अपने राज्य में आने वाली प्राइमरी स्कूल की वैकेंसी के लिए अप्लाई कर सकते है.

CTET एग्जाम सेंट्रल गवर्नमेंट द्वारा आयोजित किया जाता है इस एग्जाम को पास करने के बाद आप पूरे भारत में किसी भी राज्य में होने आने वाली प्राइमरी स्कूल की वैकेंसी के लिए अप्लाई कर सकते है.

पुरानी शिक्षा निति में TET / CTET एग्जाम पास करने के बाद यह कुछ वर्षो तक मान्य होता था परन्तु नई शिक्षा निति २०२० के बाद यह बदल गया है अब आपको पूरी लाइफ में एक बार ही TET / CTET एग्जाम पास करना होता है जो की आपके लिए आजीवन मान्य रहेगा.

TET / CTET एग्जाम पास करने के बाद भी आपको एक और एग्जाम पास करना होता है जिसका नाम super-TET होता है. इस यह एग्जाम फाइनल एग्जाम होता है इस एग्जाम को पास करने के बाद आपकी पोस्टिंग एक टीचर के रूप में हो जाती है.

यह एक तरह का इंटरव्यू होता है जो की आपकी लोकल लैंग्वेज या यह कहे की यह आपके पढ़ाने के तरीके को जांचने के लिए किया जाता है की आप स्टूडेंट को उनकी लोकल लैंग्वेज में कितना बेहतर समझा सकते है. यह एग्जाम उस स्कूल या उस राज्य द्वारा लिया जाता जहां आपने टीचर बनने के लिए आवेदन किया हुआ है.

super-TET एग्जाम आपके टीचर बनने का अंतिम पड़ाव होता है, इस एग्जाम को पास करने के बाद आपकी ज्वाइनिंग कन्फर्म हो जाती है तथा आपकी पोस्टिंग किसी सरकारी स्कूल में कर दी जाती है.

 

प्राइमरी स्कूल टीचर की सैल्र्री

दोस्तों प्राइमरी स्कूल की टीचर की सैल्र्री की बात की जाय तो यह बहुत अच्छी होती है इसमें प्राइमरी स्कूल के टीचर को 4200 रु मासिक ग्रेड पेय मिलता है साथ ही उनकी सैलरी लगभग 40000 [ चालीस हजार रु ] प्रतिमाह होती है।

सरकारी टीचर ( government teacher ) कैसे बनें? पूरी जानकारी| योग्यता| कोर्स | सैलरी। 


TGT टीचर 

 दोस्तों TGT का फुल फॉर्म होता है ट्रेंड ग्रेजुएशन टेस्ट टीजीटी टीचर वह टीचर होते हैं जो कि किसी भी सरकारी स्कूल में कक्षा 6 से कक्षा 10 तक के स्टूडेंट को पढ़ाते हैं दोस्तों आपने देखा होगा कि आपके शहर या राज्य में जो भी सरकारी स्कूल में कक्षा  6 से कक्षा 10 तक के स्टूडेंट को पढ़ाते हैं वह सब टीजीटी टीचर कहलाते हैं। 


टीजीटी टीचर बनने के लिए क्वालिफिकेशन


दोस्तों अगर आप टीजीटी टीचर बनना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कम से कम ग्रेजुएट होना अनिवार्य है साथ ही आपको B.Ed भी करना अनिवार्य है तभी आप टीजीटी टीचर बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं। 


आपके ग्रेजुएशन में कम से कम 50% नंबर होना अनिवार्य है अगर आप के अंक 50% से कम है तब आप टीजीटी टीचर बनने के लिए आवेदन नहीं कर सकते हैं। 

B.Ed की बात की जाए तो ग्रेजुएशन करने के बाद आपकी B.Ed 2 वर्ष की होती है अतः टीजीटी टीचर को बनने के लिए ग्रेजुएशन के बाद आपको 2 वर्ष की B.Ed करना भी अनिवार्य है B.Ed करने के बाद आप टीजीटी टीचर बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं। 


टीजीटी टीचर बनने के लिए एग्जाम


दोस्तों टीजीटी टीचर बनने की क्वालिफिकेशन पूरी होने के बाद आपको एक एग्जाम पास करना होता है वह एग्जाम TET नाम से आयोजित किया जाता है इस एग्जाम को पास करने के बाद ही आप किसी भी राज्य या देश की सरकारी स्कूल में शिक्षक बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं यह एग्जाम दो प्रकार का होता है


  1. STET
  2. CTET 


STET - इसका पूरा नाम स्टेट टीचर एबिलिटी टेस्ट होता है इस टेस्ट को पास करने के बाद आपने जिस भी राज्य से एसटीईटी एग्जाम को पास किया है उस राज्य में आने वाली किसी भी सरकारी स्कूल में टीचर की वैकेंसी के लिए आप अप्लाई कर सकते हैं। 


CTET - इसका पूरा नाम सेंट्रल टीचर एबिलिटी टेस्ट होता है इस टेस्ट को पास करने के बाद आप पूरे भारत में किसी भी विद्यालय में निकलने वाली सरकारी टीचर की वैकेंसी के लिए आवेदन कर सकते हैं। 



जब आप इन दोनों का एग्जाम में से कोई भी एक एग्जाम पास कर लेते हैं तो उसके बाद आपका एक और अंतिम एग्जाम होता है यह एग्जाम उस राज्य समिति के द्वारा आयोजित किया जाता है जिसके वैकेंसी के लिए आपने आवेदन किया है अर्थात अगर आप किसी विद्यालय विद्यालय में सरकारी टीचर के रूप में आवेदन करते हैं तो वह विद्यालय आपका एक और टेस्ट या यह कहें कि इंटरव्यू लेता है।  आप उस टेस्ट को जब पास कर लेते हैं तब आप उस विद्यालय में शिक्षक के तौर पर नियुक्त हो जाते हैं। 


यह एग्जाम का इंटरव्यू इसलिए लिया जाता है जिससे यह  जान सके कि आप जिसकी राज्य या शहर के लिए शिक्षक के तौर पर आवेदन कर रहे हैं आप उस राज्य की लोकल भाषा का इस्तेमाल करके स्टूडेंट को कितने अच्छे तरीके से पढ़ा सकते हैं।


यह आपके टीचर बनने का अंतिम पड़ाव होता है इसे पास करने के बाद आप किसी भी सरकारी विद्यालय में शिक्षक के तौर पर नियुक्त कर दिए जाते हैं। 


TGT टीचर की सैलरी


दोस्तों TGT टीचर की सैलरी प्राइमरी टीचर की सैलरी से अधिक होती है क्योंकि टीजीटी टीचर को पढ़ाने में थोड़ी अधिक मेहनत करनी पड़ती है इसीलिए TGT टीचर की सैलरी प्राइमरी टीचर की सैलरी से अधिक रखी जाती है।


इन्हें लगभग 4800 रुपए ग्रेड पे महीने का जोड़ा जाता है तथा साथ में इनका वेतन लगभग ₹48000 प्रति माह होता है। 


सरकारी टीचर ( government teacher ) कैसे बनें? पूरी जानकारी| योग्यता| कोर्स | सैलरी। 


पीजीटी टीचर


दोस्तों पीजीटी टीचर वह टीचर होते हैं जो कि किसी भी सरकारी स्कूल में कक्षा 11 व 12 के स्टूडेंट को पढ़ाते हैं। 

आमतौर पर स्कूल में सभी प्रकार के टीचरों को टीचर ही कहा जाता है परंतु वह तीन चरणों में अलग-अलग / होते हैं जिसमें पीजीटी टीचर स्कूल के टीचरों में सर्वोच्च पद वाला टीचर होता है। 


पीजीटी टीचर बनने के लिए क्वालिफिकेशन


दोस्तों पीजीटी टीचर बनने के लिए अलग क्वालिफिकेशन रखी गई है अगर आप एक पीजीटी टीचर बनना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कम से कम पोस्ट ग्रेजुएट होना अनिवार्य है। 

पोस्ट ग्रेजुएट होने के साथ-साथ इसमें भी आपको B.Ed कंपलसरी होता है परंतु पोस्ट ग्रेजुएशन होने के कारण यह B.Ed आपके लिए 1 वर्ष का होता है जिसको करना आपके लिए अनिवार्य है तभी आप पीजीटी टीचर बनने के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

ध्यान रहे कि आपकी अंक पोस्ट ग्रेजुएशन में भी 50% या उससे अधिक होने चाहिए अगर आपके अंक ग्रेजुएशन पोस्ट ग्रेजुएशन या फिर 12वीं की कक्षा में 50% से कम है सब आप ही की थी या किसी भी प्रकार की टीचर बनने के लिए आवेदन नहीं कर सकते हैं। 


पीजीटी टीचर बनने के लिए एग्जाम


दोस्तों पीजीटी टीचर बनने के लिए भी आपको सबसे पहले टीईटी का एग्जाम देना होता है जो कि 2 प्रकार का ही होता है


  1. STET
  2. CTET 


STET - इसका पूरा नाम स्टेट टीचर एबिलिटी टेस्ट होता है इस टेस्ट को पास करने के बाद आपने जिस भी राज्य से STET एग्जाम को पास किया है उस राज्य में आने वाली किसी भी सरकारी स्कूल में टीचर की वैकेंसी के लिए आप अप्लाई कर सकते हैं। 


CTET - इसका पूरा नाम सेंट्रल टीचर एबिलिटी टेस्ट होता है इस टेस्ट को पास करने के बाद आप पूरे भारत में किसी भी स्कूल में निकलने वाली सरकारी टीचर की वैकेंसी के लिए आवेदन कर सकते हैं। 


यह एग्जाम सभी प्रकार के टीचर बनने के लिए अनिवार्य होता है परंतु यह है एग्जाम अलग-अलग पदों पर टीचर बनने के अनुसार अलग-अलग स्तर का आयोजित किया जाता है  अर्थात अगर आप प्राइमरी टीचर बनना चाहते हैं तो उसके लिए आपका की एग्जाम अलग तरह का होता है तथा अगर आप पीजीटी टीचर बनना चाहते हैं तो उसके लिए TET एग्जाम अलग प्रकार का होता है। 


इसमें भी बाकी टीचर बनने के पदों के अनुसार ही आपको इन दोनों एग्जाम में से कोई भी एक एग्जाम पास करना होता है अगर आप स्टेट लेवल के एग्जाम को पास करते हैं तो जिस स्टेट के लिए भी आपने एग्जाम को पास किया है आप उस स्टेट में आने वाली सभी वैकेंसी के लिए आवेदन कर सकते हैं और आवेदन करने के बाद वह संस्था आपका एक और एग्जाम लेती है कि जो कि आपके टीचर बनने का एक अंतिम पड़ाव होता है इस पड़ाव में सफल होने के बाद आपको टीचर के तौर पर उस क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले किसी भी सरकारी स्कूल में शिक्षक के तौर पर नियुक्त कर दिया जाता है। 


इसी प्रकार आप सेंट्रल लेवल के टीईटी एग्जाम को बात करते हैं तो उसके बाद आप पूरे भारत में किसी भी स्थान पर निकलने वाली टीचर वैकेंसी के लिए आवेदन करने के योग्य होंगे और आवेदन करने के बाद वह क्षेत्र या उस क्षेत्र के सरकारी स्कूल आपका एक बार और उन्हें एग्जाम लेते हैं उस एग्जाम को क्लियर करने के बाद आप उस विद्यालय अर्थात उस क्षेत्र के किसी सरकारी विद्यालय में टीचर पद पर नियुक्त कर दिए जाते हैं। 


पीजीटी टीचर की सैलरी


पीजीटी टीचर की सैलरी प्राइमरी टीचर तथा पीजीटी टीचर की सैलरी से अधिक होती है क्योंकि इनके ऊपर शिक्षा का बहुत ही अधिक दबाव होता है क्योंकि इनका कार्य और भी अधिक कठिन होता है। 


इनकी सैलरी का कोई निश्चित अनुमान ज्ञात नहीं है क्योंकि यह है अलग-अलग विषय के आधार पर अलग-अलग होती है परंतु फिर भी इनकी सैलरी की कम से कम शुरुआत ₹52000 प्रति माह से शुरू होती है तथा साथ ही इनको 52 सो रुपए का मासिक ग्रेड-पे जुड़ता है। 

सरकारी टीचर ( government teacher ) कैसे बनें? पूरी जानकारी| योग्यता| कोर्स | सैलरी। 


प्रोफेसर


दोस्तों डिग्री कॉलेजों में आपने देखा होगा कि पढ़ाने के लिए जो टीचर होते हैं उन्हें प्रोफ़ेसर लेक्चरर या असिस्टेंट प्रोफेसर कहा जाता है। दोस्तों आपको बता दें कि आप डायरेक्ट प्रोफेसर के पद पर नहीं जा सकते उसके लिए आपको सबसे पहले लेक्चरर असिस्टेंट प्रोफेसर और फिर प्रमोशन के बाद प्रोफ़ेसर का पद दिया जाता है। 


प्रोफेसर बनने के लिए क्वालिफिकेशन


दोस्तों प्रोफेसर बनने के लिए आपको अपने किसी भी पसंदीदा विषय से पोस्ट ग्रेजुएशन करना अनिवार्य है तथा साथ ही आपके पोस्ट ग्रेजुएशन में कम से कम 55% मार्क्स अवश्य होनी चाहिए यह मासूम जनरल कैटेगरी के लिए है अन्य कैटेगरी के लिए कुछ छूट दी जाती है। 


प्रोफेसर बनने के लिए एग्जाम


दोस्तों प्रोफेसर बनने के लिए क्वालीफिकेशन क्राइटेरिया को पास करने के बाद आपको नेट का एग्जाम देना होता है यह एग्जाम प्रोफेसर बनने के इच्छुक सभी विद्यार्थियों को देना अनिवार्य है यह एग्जाम वर्ष में दो बार जून तथा दिसंबर में आयोजित किया जाता है। 

इस एग्जाम को क्लियर करने के बाद आप किसी सरकारी कॉलेज एक टीचर या लेक्चरर के रूप में आवेदन कर सकते हैं आवेदन करने के बाद वह कोली आपका टेस्ट या इंटरव्यू लेते हैं जिसमें पास होने के बाद आप उस कॉलेज में एक टीचर या लेक्चरर के पद पर नियुक्त कर दिए जाते हैं। 


प्रोफेसर बनने की प्रक्रिया


किसी भी सरकारी स्कूल में लेक्चरर या फिर टीचर पद पर नियुक्त रहने के साथ-साथ अगर आप प्रोफेसर बनना चाहते हैं तो उसके लिए आपको पीएचडी करना अनिवार्य है आपकी दीदी विषय में पीएचडी कर सकते हैं आप चाहे तो किसी कॉलेज में पढ़ाते हुए भी पीएचडी साथ साथ कर सकते हैं क्योंकि प्रोफ़ेसर बनने के लिए आपको किसी भी कॉलेज में कम से कम 7 से 8 वर्ष का टीचिंग एक्सपीरियंस होना अनिवार्य है। 


जब आपकी पीएचडी कंप्लीट हो जाती है तब तक आप किसी सरकारी कॉलेज में एक टीचर अथवा लेक्चरर के पद पर शिक्षा प्रदान करते रहे जिससे आपको एक्सपीरियंस प्राप्त होता रहेगा तथा उसके बाद कॉलेज आपके एक्सपीरियंस और काबिलियत के हिसाब से आपको प्रोफेसर के पद पर नियुक्त करता है। 


प्रोफ़ेसर की सैलरी


दोस्तों जिस प्रकार कॉलेज में प्रोफ़ेसर बनना बहुत ही मुश्किल होता है उसी हिसाब से प्रोफ़ेसर की सैलरी भी बाकी सब टीचरों के मुकाबले में बहुत अधिक होती है क्योंकि इसके लिए किसी भी स्टूडेंट को बहुत मेहनत करनी पड़ती है तथा बहुत ही अधिक एक्सपीरियंस की जरूरत होती है। 

किसी भी प्रोफेसर की सैलरी का निश्चित रूप से बता पाना मुश्किल होता है क्योंकि यह भी प्रोफ़ेसर के विषय पर निर्भर करती है परंतु एक अनुमान के अनुसार उनका मासिक वेतन कम से कम ₹80000 प्रति माह जिसमें लगभग ₹8000 मासिक ग्रेड पे जुड़ता है से लेकर डेढ़ लाख रुपए प्रतिमाह या उससे अधिक हो सकती है जिसमें उनका मासिक ग्रेड पे 15 से 20000 जोड़ता है। 


निष्कर्ष


दोस्तों हमने इस पोस्ट सरकारी टीचर ( government teacher ) कैसे बनें? पूरी जानकारी| योग्यता| कोर्स | सैलरी।  में आपको सरकारी टीचर कैसे बने से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करने की कोशिश की है तथा टीचर जितने भी प्रकार के होते हैं उन टीचरों के बनने की पूरी प्रक्रिया को बताने का प्रयास किया है अगर आपको हमारी पोस्ट में कोई कमी नहीं हो या फिर आपको हमारी पोस्ट के लिए कोई सुझाव हो तो निसंदेह हमें बताएं जिससे कि हम अपने पोस्ट में सुधार कर सकें और उसे और बेहतर बना सकें।


अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद है और आपके मन में सरकारी टीचर कैसे बने से जुड़े सभी सवालों के जवाब मिल चुके हैं तो कृपया कमेंट कर हमें अवश्य बताएं क्योंकि आपके कमेंट करने से हमें प्रोत्साहन मिलता है और हम और भी अच्छी तरह से आपके लिए पोस्ट लिखते हैं। अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई है तो कृपया कमेंट करके जरूर बताएं ।

हमारी पोस्ट पर आने के लिए आपका धन्यवाद


 

Disqus Comments