शुक्रवार, 15 जुलाई 2022

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें? पूरी जानकारी | software engineer kaise bane.



12th-ke-baad-software-engineer-kaise-bane.
 सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें? पूरी जानकारी | software engineer kaise bane. 

  सॉफ्टवेयर इंजीनियर ( software engineer ) कैसे बनें? पूरी जानकारी 

दोस्तों आज के समय में लगभग सभी काम कंप्यूटर द्वारा किए जा रहे हैं कंप्यूटर नए-नए आधुनिक सॉफ्टवेयर का उपयोग करके कार्य को बेहतर तथा तेजी से करते हैं ऐसे में कंप्यूटर सॉफ्टवेयर फील्ड में काफी स्कोप बढ़ रहा है अगर आप भी एक कंप्यूटर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन कर अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आप एकदम सही पोस्ट पर आए हैं आज हम अपनी  पोस्ट  सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें? पूरी जानकारी | software engineer kaise bane.  में आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने से संबंधित सभी जानकारियों को विस्तारपूर्वक बताएंगे जैसे कि आप एक सफल सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन कर अपना भविष्य उज्जवल कर सकें तो दोस्तों पोस्ट को शुरू करने से पहले आइए जान लेते हैं कि हम किस किस विषय पर चर्चा करेंगे।

सॉफ्टवेयर (Software) क्या है? 

दोस्तों सॉफ्टवेयर कोई वस्तु नहीं होती बल्कि यह एक कंप्यूटर को समझ में आने वाली भाषा में लिखा गया एक प्रोग्राम होता है जो कि कंप्यूटर को किसी कार्य को किस तरह से करना है यह निर्देश देता है। 
आसान शब्दों में कहा जाए तो कंप्यूटर या मोबाइल एक मशीन है और उस मशीन को किस तरह से कार्य करना है यह निर्देश देने वाला सॉफ्टवेयर होता है। 

आपके मोबाइल में इस्तेमाल होने वाले सोशल मीडिया एप्लीकेशन विभिन्न तरह के मनोरंजन एप्लीकेशन यह सब एक सॉफ्टवेयर है जो कि आपके फोन को उन प्रोग्रामों को रद्द करने का आदेश देते हैं जिन्हें आप इस्तेमाल करना चाहते हैं।

सॉफ्टवेयर (Software) इंजीनियर कौन होते है? 


दोस्तों सॉफ्टवेयर इंजीनियर ऐसे व्यक्ति होते हैं जो कि कंप्यूटर को समझ में आने वाली भाषा का इस्तेमाल करके एक ऐसा प्रोग्राम बनाते हैं जोकि कंप्यूटर को किसी कार्य को सरलता पूर्वक करने के निर्देश दे सकें सॉफ्टवेयर इंजीनियर कहलाते हैं। 

आसान शब्दों में कहा जाए तो जो भी व्यक्ति कोडिंग का इस्तेमाल करके किसी एप्लीकेशन को बनाते हैं या फिर किसी एप्लीकेश,  software मॉडिफाई करते हैं वह सब सॉफ्टवेयर इंजीनियर कहलाते हैं। 
 

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कोर्स hindi | 12th ke baad software engineer kaise bane | सॉफ्टवेयर इंजीनियर ( software engineer ) कैसे बनें?


दोस्तों सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग या फिर कोई बैचलर कंप्यूटर कोर्स अथवा कंप्यूटर फील्ड में डिप्लोमा करना होगा। 
दोस्तों अगर आप किसी सरकारी कॉलेज से सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग का कोर्स करते हैं तो इससे कम खर्च में बेहतर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते हैं क्योंकि जो भी स्टूडेंट सरकारी कॉलेजों से सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की पढ़ाई करते हैं उनकी डिमांड जाता होती है और उन्हें बड़ी-बड़ी  कंपनियां जैसे माइक्रोसॉफ्ट, गूगल, फेसबुक इत्यादि अपनी कंपनी में उच्च पदों पर जॉब देती है। 

परंतु दोस्तों सरकारी कॉलेजों में प्रवेश आसान नहीं होता है उसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम को क्लियर करना होता है एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के बाद ही आप किसी सरकारी कॉलेज से कोई सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स कर सकते हैं, एंट्रेंस एग्जाम राज्य तथा केंद्रीय दोनों स्तर पर आयोजित किए जाते हैं। 

 सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software engineer) बनने के लिए एन्ट्रेंस एग्जाम 


दोस्तों सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए बहुत से एग्जाम विभिन्न राज्यों द्वारा सरकारी कॉलेजों के लिए आयोजित कराए जाते हैं परंतु कुछ एग्जाम बहुत प्रसिद्ध होते हैं जिन्हें पास करने के बाद देश की टॉप शिक्षण संस्थान में प्रवेश मिलता है जिससे कि आपका एक बड़ा और नाम तो इंजीनियर बनना लगभग तय होता है। 
हम आपको कुछ एग्जाम के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें पास करने के बाद आप सरकारी कॉलेज में प्रवेश ले कर अपना सुनहरा भविष्य बना सकते हैं। 

  • JEE MAINS 
  • JEE ADVANCE 
  • UPTU 
  • BVP CET
  • BITSAT
  • SRM JEE
  • NATA

NOTE - JEE ADVANCE एंट्रेंस एग्जाम में शामिल होने के लिए आपको JEE MAINS  का एग्जाम क्लियर करना अनिवार्य है अभी आप JEE ADVANCE एंट्रेंस एग्जाम टेस्ट में बैठ सकते हैं इस टेस्ट को पास करने के बाद आईआईटी कॉलेज प्राप्त होते हैं जो कि भारत की सबसे बड़े शिक्षण संस्थान है। 


Software engineering course after 12th in hindi | सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स 


दोस्तों सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आप नीचे दिए गए कोर्स को कर सकते हैं। 

 बैचलर कोर्स ( Bachelor course) 


  • बी. टेक इन सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग 
  • बैचलर इन कंप्यूटर एप्पलीकेशन
  • बैचलर इन इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी
  • बैचलर ऑफ सॉफ्टवेयर  इंजीनियरिंग 
  • बैचलर इन सॉफ्टवेयर एंड डाटा इंजीनियरिंग
  • बीएससी इन कंप्यूटर साइंस
  • बैचलर इन सॉफ्टवेयर डेवलोपमेन्ट
  • सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट एंड एंटरप्रेन्योरशिप

मास्टर्स कोर्स ( master course ) 


  • मास्टर इन कंप्यूटर एप्पलीकेशन
  • मास्टर इन कम्प्यूटर मैनेजमेंट 
  • मास्टर ऑफ सॉफ्टवेयर इंजीनिरिंग 
  • एम टेक इन कंप्यूटर साइंस 
  • एम बी ए इन इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी 
  • एम एससी इन सॉफ्टवेयर सिस्टम 

डिप्लोमा कोर्स ( diploma course ) 

  • पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन वायरलेस एंड मोबाइल कंप्यूटिंग। 
  • शार्ट कोर्स ऑन डेवलपिंग इंडस्ट्रियल इंटरनेट ऑफ थिंग। 
  • सर्टिफिकेट इन जावा प्रोग्रामिंग
  • सर्टिफिकेट इन रेस्पॉन्सिव वेबसाइट बेसिक- C, C++, SQL, HTML, JAVA, PYTHON. 
  • सॉफ्टवेयर टेस्टिंग
  • मोबाइल एप्प डेवलोपमेन्ट कोर्स
  • डेटा visualization कोर्स।
  • My, SQL
  • डी. बी. ए. 

12th ke baad software engineer kaise bane |12वी के बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें? 


सरकारी कॉलेज से सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें? 


12वी कक्षा को पास करे


सबसे पहले अपने 12वीं की कक्षा को अच्छे अंको से पास करें तभी आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए होने वाले एंट्रेंस एग्जाम में शामिल हो सकते हैं।

एंट्रेंस एग्जाम के लिए आवेदन करें


सरकारी कॉलेज के सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स करने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। 

एंट्रेंस एग्जाम पास करे


दोस्तों अब आपको एंट्रेंस एग्जाम को पास करना होगा एंट्रेंस एग्जाम को पास करने से आपको बेहतर सरकारी कॉलेज मिलेगा जिससे कि आप भी एक सफल सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते हैं। 

ऑनलाइन काउंसलिंग करें


एंट्रेंस एग्जाम पास होने के बाद अगला चरण काउंसलिंग का होता है काउंसलिंग में आपको आप की पसंद के कॉलेजों को चुनना होता है।

अपने पसंद के कॉलेज में प्रवेश लें। 


दोस्तों काउंसलिंग के समय जो भी कॉलेज चुने थे उनमें से किसी भी कॉलेज में आपका नाम आने पर उस कॉलेज में जाकर आपको प्रवेश लेना है तथा अपने सॉफ्टवेयर इंजीनियर से संबंधित कोर्स को मेहनत के साथ पूरा करना है। 

अब आप एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन जाते है। 


दोस्तों आप का कोर्स पूरा होने के बाद बड़ी-बड़ी कंपनियां आपके कॉलेज में जाती है और आपको अपने ऑफिस या कंपनियों में जॉब ऑफर करती है इस तरह आप उनकी कंपनी मे सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में काम करते हैं। 

प्राइवेट कॉलेज से सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें? 


प्राइवेट कॉलेज से सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको किसी तरह का कोई भी एंट्रेंस एग्जाम नहीं देना होगा कुछ चुनिंदा कॉलेज ऐसे होते हैं प्राइवेट होने के बाद भी एंट्रेंस एग्जाम लेते हैं परंतु ज्यादातर सरकारी कॉलेज आपकी बारहवीं कक्षा के अंकों के आधार पर ही आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स को कराते हैं यदि आप सरकारी कॉलेज से software engineering कोर्स नही कर सकते तब आप किसी भी parivate अच्छे कॉलेज से सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते है। 

आज के समय में बहुत सारे ऐसी प्राइवेट कॉलेज है जो बहुत अच्छे हैं तथा जिनमें बड़ी-बड़ी कंपनियां प्लेसमेंट के लिए स्टूडेंट का चयन करते हैं अतः आप के लिए प्राइवेट कॉलेज से एक बेहतरीन विकल्प हो सकता है। 

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए 12वी में कितने अंक होने चाहिए? 


दोस्तों सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए होने वाले एंट्रेंस एग्जाम में एग्जाम के अलग-अलग रिक्वायरमेंट होती है आमतौर पर किसी भी एंट्रेंस एग्जाम में आपके 12वीं कक्षा में कम से कम 60% अंक अवश्य होने चाहिए। 

परंतु अगर आप JEE MAINS  और JEE ADVANCE ( IIT)  एग्जाम में शामिल होना चाहते हैं तो उसके लिए आप के 12वीं कक्षा में कम से कम 75% अंक अवश्य होने चाहिए तभी आप उस परीक्षा में शामिल होने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। 

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए 12 वी किस विषय से करे| software engineer bnne k lie konsa subject lena padta hai. 


दोस्तों सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको अपनी 12वीं कक्षा को फिजिक्स, केमिस्ट्री और गणित सब्जेक्ट से पास करना अनिवार्य है अगर आपके पास इन तीनों में से कोई भी एक सब्जेक्ट नहीं है तब आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए होने वाले एंट्रेंस एग्जाम में शामिल नहीं हो सकते क्योंकि एंट्रेंस एग्जाम में आपसे फिजिक्स केमिस्ट्री तथा मैथ से ही सवाल पूछे जाते हैं। 

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कोर्स फीस hindi | software engineer bnne me kitna paise lagta hai. 


दोस्तो जिस तरह आपके मन मे यह सवाल आया कि Software engineer Kaise bane उसी प्रकार आपके मन मे सॉफ्टवेयर इंजीनियर कोर्स फीस के बारे में भी सवाल आया होगा क्योंकि यह सबसे जरूरी है। 
दोस्तो हम आपको बता दे कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर कोर्स की फीस अलग-अलग कॉलेज की अलग-अलग कोर्स के लिए अलग होती है। आपकी फीस कितनी है यह इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस कॉलेज में पढ़ रहे है और आपका कोर्स कोनसा है। 

एक अनुमान के हिसाब स अगर आप कोई बेचलर कोर्स करते है तो इसके लिए फीस 25 हजार रुपये सालाना से लेकर 2 लाख रुपये सालाना तक कॉलेज के हसाब से हो सकती है। 

इसी प्रकार यदि आप कोई डिप्लोमा कोर्स करते है तो यह आपकी 5 हजार रु से लेकर 50 हजार रु सलाना तक होती है। 

NOTE - अगर आप सरकारी कॉलेज से सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स को करते है तो इसमें आपकी फीस प्राइवेट कॉलेज के हिसाब से बहुत ही कम जाती है। 

दसवीं के बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें? | Software engineer banne ke lie 10th ke baad kya kare. 


स्टेप 1 - 11वी और 12वी कक्षा पास करें..


अपनी 11वी व 12 वी कक्षा को साइंस ( फिजिक्स, केमेस्ट्री, मैथ्स ) विषय से अच्छे अंको से पास करें। क्योकि सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए होने वाले एन्ट्रेंस एग्जाम में 11वी तथा 12वी कक्षा के सवाल ही पूछे जाते है। 

 स्टेप 2- पसंदीदा कॉलेज में एडमिशन लें..


दोस्तों अपने पसंदीदा कोर्स तथा पसंदीदा कॉलेज का चुनाव करें तथा उस कॉलेज में प्रवेश लेने के बाद अच्छे से अपनी स्टडी पर ध्यान दें तथा जो भी आपको सिखाया जाता है उसे पूरी मन लगाकर सीखने का प्रयास करें। 


स्टेप 3- प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखे..


दोस्तो आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखने में रुचि होनी चाहिए क्योंकि एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे- C, C++, JAVA, pithon, HTML आदि का पुर्ण ज्ञान होता है। 

स्टेप 4 - नए सॉफ्टवेयर औऱ एप्प बनाना..


दोस्तो आपको नए-नए सॉफ्टवेयर और एप्प बनने के बारे के रुचि और उनको बनाने के लिए कोसिस करनी चाहिए। प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखने के बाद आपको सॉफ्टवेयर बनाने और एप्पलीकेशन बनने के लिए बेसिक जानकारी मिल जाती है अतः आपको नए सॉफ्टवेयर और एप्पलीकेशन बनाने का प्रयास करना चाहिए। 


स्टेप 5 - टीम वर्क एवं कम्युनिकेशन स्किल..


दोस्तो एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के अंदर टीम वर्क एवं कम्युनिकेशन स्किल होना बहुत जरूरी है। अतः आपके अंदर यह स्किल जरूर होनी चाहिए। 


स्टेप 6 - कंप्यूटर हार्डवेर की जानकारी 


आपको कंप्यूटर के सभी पार्ट्स की जानकारी होनी चाहिए और सभी सॉफ्टवेयर के बारे में अच्छी समझ होनी चाहिए। 

स्टेप 7 - इंटरशिप के लिए आवेदन करें..


दोस्तों जब आप अपने कोर्स को पूरा कर लेते हैं उसके बाद आप किसी भी कंपनी में इंटरशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं यदि  आपकी काबिलियत कंपनी को पसंद आती है तो वह आपको अच्छी पोस्ट पर जो ऑफर करती है इस तरह से आप उस कंपनी के लिए एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन जाते हैं। 

सॉफ्टवेयर इंजीनियर( software engineer ) के कार्य 


  • नये सॉफ्टवेयर को बनाना। 
  • सॉफ्टवेयर की कमियों में सुधार करना। 
  • सॉफ्टवेयर को डिवाइस के अनुसार मॉडिफाई करना। 
  • सॉफ्टवेयर की टेस्टिंग करना। 
  • लोगो की जरूरतों के हिसाब से सॉफ्टवेयर बनाना। 
  • पुराने सॉफ्टवेयर को अपडेट करके नया और बेहतर बनना। 

सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलेरी इंडिया | software engineer salary. 


  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी अलग-अलग कंपनियों में अलग-अलग होती है कंपनियां आपके टैलेंट के हिसाब से आपको अलग-अलग पोस्ट देती है तथा उनकी सैलरी भी अलग-अलग होती है। 
  • किसी कंपनी द्वारा आपकी सैलरी इस बात से तय की जाती है कि आपको अपने फील्ड का कितना अधिक से अधिक ज्ञान है।
  • किसी भी सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलेरी कम से कम ₹30000 प्रति माह से शुरू होती है तथा जिसकी कोई लिमिट नहीं होती।
  • बेंगलुरु दिल्ली और मुंबई जैसे महानगरों में किसी भी सॉफ्टवेयर इंजीनियर की औसत सैलरी ₹50000 प्रति माह होती है। 
  • माइक्रोसॉफ्ट गूगल फेसबुक जैसी बड़ी बड़ी कंपनियों में किसी भी सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी कम से कम ₹200000 प्रति माह से शुरू होती है। 
  • गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई की 1 महीने की सैलरी लगभग 108 करोड रुपए प्रतिमाह है। 

सॉफ्टवेयर इंजीनियर ( software engineer) बनने के लिए स्किल्स


दोस्तों अगर आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं तो आपके अंदर यह skills जरूर होने चाहिए। 

  • आपको कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने में रुचि होनी चाहिए।
  • आपकी कम्युनिकेशन स्किल्स बहुत अच्छी होनी चाहिए।
  • आपको नए नए सॉफ्टवेयर के बारे में जानकारी होनी चाहिए। आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखने में अधिक से अधिक रुचि दिखानी चाहिए।
  •  आपको नए नए सॉफ्टवेयर बनाने की कोशिश करनी चाहिए। आपकी थिंकिंग पावर बहुत स्ट्रांग होनी चाहिए। 

 सॉफ्टवेयर इंजीनियर कॉलेज |Software Engineering best college. 


टॉप भारतीय कॉलेज


  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी, मद्रास
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी ,दिल्ली
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी, बॉम्बे
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी ,रुड़की
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी, रायपुर
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी , गुवाहाटी
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी, गोआ
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी ,हैदराबाद
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी, भुवनेश्वर
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी , जोधपुर
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी, गांधीनगर
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी ,मंडी
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी , पटना
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी, भिलाई
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी ,खड़कपुर
  • जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी
  • बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी 
  • कोलकाता यूनिवर्सिटी 
  • मणिपाल अकैडमी आफ हायर एजुकेशन 
  • बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ एजुकेशन एंड साइंस 
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी 
  • होमी भाभा नेशनल यूनिवर्सिटी 
  • केरला यूनिवर्सिटी 
  • महात्मा गांधी यूनिवर्सिटी 
  • गुजरात यूनिवर्सिटी 
  • अमिता विद्यापीठ।

 टॉप विदेशी यूनिवर्सिटी 


  • जॉन हापकिंस यूनिवर्सिटी 
  • कोलंबिया यूनिवर्सिटी 
  • कॉर्नेल यूनिवर्सिटी 
  • ड्यूक यूनिवर्सिटी 
  • यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो 
  • यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड 
  • स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी 
  • हॉवर्ड यूनिवर्सिटी 
  • कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी 
  • यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफ़ोर्निया,वर्कले 
  • यूनिवर्सिटी ऑफ कैंब्रिज। 


सॉफ्टवेयर इंजीनियर कोर्स कितने साल का होता है? 


सॉफ्टवेयर इंजीनियर कोर्स अलग-अलग कोर्स समय का होता है, ग्रेजुएट कोर्स 3 साल का होता है जबकि पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स 2 साल का होता है। 
अगर आप बी. टेक कंप्यूटर साइंस से करते है तो यह आपका 4 वर्ष का होता है। 

निष्कर्ष 


दोस्तो आशा करते है आपको हमारी यह पोस्ट  सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें? पूरी जानकारी | software engineer kaise bane.   जरूर पसन्द आई होगी। 

हमने अपनी पोस्ट में आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने से संबंधित सभी जानकारी देने का प्रयत्न किया है अगर फिर भी आपके मन मे सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने से संबंधित कोई सवाल रह गया हो तो कृपया कमेंट के माध्यम हमे अपना सवाल बताए, जिससे हम आपके सवाल का जवाब दे सके। 

दोस्तो अगर आपको हमारी पोस्ट के लिए कोई सुझाव हो तो कृपया हमें अवश्य बताए जिससे हम अपनी पोस्ट में सुधार कर उसे बेहतर बना सकें। 
दोस्तो पोस्ट पसंद आई हो तो कृपया कंमेंट करके अवश्य बताए आपके कमेंट से हमें बेहतर पोस्ट लिखने का हौसला मिलता है। हमारी पोस्ट  सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें? पूरी जानकारी | software engineer kaise bane.  में आने के लिए आपका धन्यवाद। 

FAQ'S 


प्रश्न 1 - सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software engineer) बनने के लिए एन्ट्रेंस एग्जाम कौनसा होता है? 
उत्तर - आप निम्न एन्ट्रेंस एग्जाम को दे सकते है- 
         JEE MAINS 
        JEE ADVANCE 
        UPTU 
        BVP CET
        BITSAT
        SRM JEE
        NATA. 

प्रश्न 2- सॉफ्टवेयर इंजीनियर कोर्स कितने साल का होता है? 

 उत्तर - सॉफ्टवेयर इंजीनियर कोर्स अलग-अलग कोर्स समय का होता है, यह कोर्स 3-4 वर्ष के कोर्स के हिसाब से अलग-अलग होते है। 

प्रश्न 3 - सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए 12वी( 12th) में कितने अंक होने चाहिए? 
उत्तर-  आपके 12वीं कक्षा में कम से कम 60% अंक अवश्य होने चाहिए। 
परंतु अगर आप JEE MAINS  और JEE ADVANCE ( IIT)  एग्जाम में शामिल होना चाहते हैं तो उसके लिए आप के 12वीं कक्षा में कम से कम 75% अंक अवश्य होने चाहिए। 

प्रश्न 4- सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए कितना खर्च आता है ? 
उत्तर - सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए 30 हजार रु प्रतिवर्ष से लेकर 2 लाख रु प्रतिवर्ष तक कॉलेज की फीस के अनुसार अलग-अलग आता है। 

प्रश्न 5 - सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए 12th में कौनसा सब्जेक्ट होना चाहिए ? 
उत्तर - इसके लिए आपकी 12th फिजिक्स, केमिस्ट्री और गणित विषय से होनी चाहिए। 
Disqus Comments