शुक्रवार, 7 अक्तूबर 2022

इन शहरों में बन्द हुई ओला, ऊबर और रेपीडो कि सर्विसेज


Ola-cab-banned
इन शहरों में बन्द हुई ओला, ऊबर और रेपीडो कि सर्विसेज 


बेंगलुरू में ओला, ऊबर और रेपीडो की ऑटो सर्विसेस को कर्नाटक परिवहन निगम ने अवैध घोषित कर दिया है साथ ही इन्हें तीन दिन के अंदर अपनी सर्विसेज को बंद करने का नोटिस जारी किया है। 

कर्नाटक सरकार ने यह बड़ा फैसला गुरुवार को लिया, एक रिपोर्ट के मुताबिक कर्नाटक सरकार ने तीनों ऑटो सर्विसेज की पैरंट कंपनी ANI को गुरुवार को एक नोटिस जारी किया था जिसमे उन कंपनी को तीन दिन के अंदर बेंगलुरू में अपनी सर्विसेज बन्द करने का आदेश दिया था। 


क्या है मामला 

दरअसल कर्नाटक सरकार के यह बड़ा फैसला लेने की वजह ओला, ऊबर एवं रेपीडो कंपनी की ग्राहकों से एक्स्ट्रा पैसा लेना है। ग्राहकों द्वारा कई बार यह शिकायत आई कि ओला और ऊबर 2 किलोमीटर से कम दूरी होने के बावजूद कम से कम किराया 100 रु चार्ज करते है। जब्कि बेंगलुरु में इन ऑटो सर्विस को शुरू करने से पहले इन कंपनी द्वारा 2 किलोमीटर से कम दूरी तय करने पर कम से कम 30 रु किराया और उसके बाद प्रत्येक किलोमीटर पर 15 रु प्रति किलोमीटर तय किया गया था, परन्तु ग्राहकों की शिकायतों के अनुसार ये कंपनियां 2 किलोमीटर से कम दूरी पर कम से कम 100 रु चार्ज करती है। इस कारण कर्नाटक परिवहन निगम ने गुरुवार को इन कंपनी को नोटिस देते हुए तीन दिन में अपनी सर्विसेज बन्द करने का आदेश दिया है। 


तेजस्वी सूर्या ने की थी कारवाही करने की मांग 

इस मुद्दे पर बेंगलुरु के सांसद तेजस्वी सूर्या ने 6 अक्टूबर को अपनी बात रखी। उन्होंने एक ट्वीट के माध्यम से कहा है कि ऑटो रिक्शा बेंगलुरु में पहली और अंतिम कनेक्टिविटी की रीढ़ है। उन्होंने यह भी कहा है कि हमे हाल ही में लोगो द्वारा ओला, ऊबर और रेपीडो जैसी ऑटो सर्विस कंपनी द्वारा निर्धारित मिनिमम चार्ज 30 रु को बदलकर 100 रु चार्ज करने की शिकायत मिली है। 

तेजस्वी सूर्या ने सीएम और परिवहन मंत्री से आवश्यक कार्यवाही करने की मांग की है। 


ऑटो रिक्शा चालक है फैसले से खुश 

कर्नाटक परिवहन निगम द्वारा इन कंपनी पर लिए गए फैसले से लोकल ऑटो-रिक्शा चालक बहुत खुश है। क्योंकि ऐसा होने से लोग ऑटो रिक्शा में सफर करेंगे। 


ऑटो- रिक्शा चालक लांच करेंगे अपना खुद का एप्प

ऑटो रिक्शा चालक यूनियन 1 नवंबर से अपना खुद का नम्मा यात्री नाम का अप्प लांच करने की तैयारी में है। ऑटो रिक्शा चालक यूनियन के अध्यक्ष इस एप्प को लांच करने वाले है उनका मानना है कि अब लोग ऑटो रिक्शा को ओला, ऊबर की तरह फ़ोन से ही बुक कर सकेंगे। 

Disqus Comments